Categories
Other

को’रोना पर फेक न्यूज़ से परेशान व्हाट्सएप ने उठाया ये कदम,अब नही कर सकेंगे ये काम

को’रोना वाय’रस के साथ साथ देश के अंदर कुछ लोगों द्वारा फेक न्यूज़ भी फैलाई जा रही है जिस पर सरकार आये दिन रोकने का प्रयास कर रही है. को’रोना को लेकर भी काफी ज्यादा फेक न्यूज़ सोशल मीडिया के ऊपर फैलाई जा रही हैं. इसी को देख्त्ये हुए Whatsapp ने कुछ बदलाव किये हैं.  ये मांग काफी दिनों से उठ रही थी की सरकार इसपर कोई कार्यवाई करें ताकि फेक न्यूज़ को रोका जा सके फैलने से क्योकि फेक न्यूज़ कि वजह से भी कोरोना जैसे महामारी पर भी लोग मेसेज पढ़कर परेशान हो जाते हैं. इन सबको देखते हुए Whatsapp ने ये बड़ा कदम उठाया है.

WhatsApp कोविड -19 अफ’वाहों पर लगा’म लगाने के लिए स’ख्त कदम उठाया है. WhatsApp एक चैट में फ्रिक्वेंटली भेजने वाले मैसेज को सीमित कर रहा है. अक्सर व्हाट्सएप फ्रिक्वेंटली भेजे गए मैसेज को पांच लोगों को भेजने का ऑप्शन देता है. वहीं अब अब ये ऐप ऐसे फीचर पर काम कर रहा है. जिसमें यूजर्स को फॉरवर्ड किए गए मैसेज को वेरिफाई कर सकेगें.

WhatsApp फॉरवर्ड किए गए मैसेजेस के लिए नया तरीका लेकर आ रहा है. जिससे गलत सूचनाओं पर काफी हद तक लगा’म लगेगी. नए अपडेट के तहत अब एक बार में एक यूजर को ही कोई भी मैसेज भेज पाएंगे. फ्रिक्वेंटली भेजे गए मैसेज व्हाट्सएप पर डबल टिक के साथ इंडिकेट होंगे. इससे पहले यूजर एक मैसेज को एक साथ पांच लोगों को भेज सकते थे. व्हाट्सएप के मुताबिक ऐसा करने के बाद फ्रिक्वेंटली मैसेजेस भेजने वाले लोगों में 25 फीसदी तक कमी आई है.

व्हाट्सएप का कहना है कि ऐप का ये नया अपडेट को’रोना वा’यरस को लेकर फैल रही गलत सूचनाओं पर लगा’म लगाने के लिए लाया जा रहा है. व्हाट्सएप ने अपने को’रोनो वाय’रस सूचना केंद्र का भी शुभारंभ किया और फैक्ट चैंकिंग सर्विस के लिए एक मिलियन डॉलर दान दिया है. कंपनी ने कोविड -19 व्हाट्सएप चैटबॉट को लॉन्च करने के लिए भारत सरकार और राज्य सरकारों के साथ साझेदारी की है.

ये फे’क न्यूज़ काफी वक़्त पहले से चल रही है. इसमें जिसके पास जो मैसेज आया उसने अगले को तुरंत फॉरवर्ड कर दिया. लोग ये भी नहीं देखते हैं कि ये न्यूज़ सही है या नहीं.जिसकी वजह से देश में हालात ख़राब हो जाते हैं. को’रोना को लेकर भी बहुत लोगों ने गलत न्यूज़ फैलाई है. इन सब पर लगाम लगाने के लिए whtsapp अपने फीचर में ये अपडेट ला रहा है ताकि एक हद्द तक फेक न्यूज़ को फैलने से रोका जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *