Categories
News

विकास दुबे म’रने से पहले कर गया कई बड़े खुलासे,जानकार आप भी हैरान रह जायेंगे

वही हुआ जिसका सबको अंदेशा था, जिसका सब इंतज़ार कर रहे थे. गैं’गस्ट’र विकास दुबे कानपुर का ए’नकाउं’टर हो गया है और वो मा’रा गया. गुरुवार को जब से विकास दुबे की गिरफ्तारी हुई तब से हर जगह यही चर्चा थी कि कहीं विकास का ए’नकाउं’टर न हो जाए. विकास दुबे को कानपुर ला रही एसटीएफ के काफिले की गाड़ी आज सुबह दु’र्घट’नाग्र’स्त हो गई. हा’दसा कानपुर टोल प्लाजा से 25 किलोमीटर दूर हुआ. गाड़ी दु’र्घटना’ग्रस्त होने के बाद विकास दुबे भागने लगा. करीब आठ किलोमीटर भागने के बाद पुलिस ने उसका ए’नकाउं’टर कर दिया.

विकास दुबे को पक’ड़ने के बाद उससे पूछताछ के दौरान यह कबूला है कि उसने सीओ देवेंद्र मिश्रा की ह’त्या नहीं की है. उसने कहा की मेरे लोगों ने मा’रा था. विकास दुबे ने पुलिस के समक्ष कहा है कि सीओ देवेंद्र मिश्रा अकसर मेरे पर कमेंट करते थे. उसने बतया कि  मेरा एक पैर ख़राब है तो सीओ कहते थे की मैं इसका दूसरा पैर भी सही कर दूंगा.

सूत्रों से ये भी खबर है की विकास दुबे ने बताया था कि उसको पहले ही पता चल गया था की पुलिस उसको वहां पर छापेमारी करने आ रही हैं. उसने कहा की मेरे तक जो खबर थी उसमे पुलिस को सुबह पहुंचना था. छापेमारी करने लेकिन वो रात में ही पहुँच गई. उसने ये भी कबूल किया है की हम पुलिस वालों को ज’लाना चाहते थे. ये सारी बाते विकास दुबे ने कबूल की हैं.

गौरतलब है कि विकास दुबे पर योगी सरकार ने 5 लाख रूपये का इनाम घोषित कर दिया था. वो घ’टना के 7 वें दिन उज्जैन में पकड़ में आया, यूपी पुलिस उसे दिल्ली एनसीआर और यूपी में ही ढूंढती रही लेकिन वो बच निकला. वहीँ जब महाकाल मंदिर के परिसर में विकास पकड़ा गया तो वो चिल्ला-चिल्ला कर ये कहने लगा कि मैं विकास दुबे कानपुर वाला हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *