Categories
News

तमिलनाडू में लॉक डाउन के बीच लोगो ने कर दिया कुछ ऐसा जिस पर पुलिस को उठाना पड़ा क’ड़ा क’दम

कोरो’ना वाय’रस अपने पैर धीरे-धीरे और भी बढ़ा रहा हैं. जिसको देखते हुए हर प्रदेश की सरकारों ने अपने प्रदेश की रक्षा के लिए कड़े कदम उठाये हैं ताकि कोरो’ना वाय’रस को रोका जा सके. कोरो’ना को देखते हुई पीम मोदी ने देश को पूर्ण रूप से 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया हैं.जो अभी भी लागू है देश के अंदर. उसका कारण था की कोरो’ना से लड़ा जा सके और इसको देश से बाहर निकाल के फेका जा सके.  

कोरो’ का कहर तो बहद रहा है लेकिन कुछ राज्यों से ऐसी खबर आती है जिसको देखने के बाद सोचना पड़ता है.ऐसा ही कुछ तमिलनाडु के यगप्पा नगर क्षेत्र में एमजीआर स्ट्रीट में दिहाड़ी मजदूरों ने विरोध-प्रदर्शन किया. उन्होंने आरो’प लगाया कि लॉकडाउन की वजह से उनके पास जरूरी सामान खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं. एमजीआर स्ट्रीट को कोविड-19 के कंटेनमेंट जोन के रूप में घोषित करके सील कर दिया गया है.

इस तरह कि घ’टना पहले भी देखने को मिल चुकी हैं. ऐसी घ’टना सूरत में लॉकडाउन से परेशान सैकड़ों प्रवासी मजदूरों ने शुक्रवार रात उ’ग्र होकर सड़कों पर उतर आए थे और ये लोग प्रशासन को मजबूर कर रहे थे कि हम लोगों को अपने घर भेजा जाए. इन मजदूरों ने अपनी मांग को पूरा करने के लिए उ’ग्र प्रद’र्शन करने लगे और इन लोगों ने  प्रदर्श’न के दौरान मजदूरों ने कई वाहन भी फूं’क डाले. पुलिस ने आ’गज’नी करने वालों को ख’देड़’कर स्थिति को अपने काबू में ले लिया.

हालाँकि पुलिस के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार रात सूरत के लसकाना इलाके में लॉकडाउन से परेशान होकर सैकड़ों प्रवासी मजदूर सड़कों पर उतर आए थे. वह अपने घरों को लौटने के लिए समुचित व्यवस्था किए जाने और उनके बकाये का जल्द से जल्द भुगतान करने की मांग कर रहे थे. इसी बीच मजदूरों ने वहां पर कहदे ठेले और वाहन में आग लगा दी.

कोरो’ना के चलते आज देश पूरी तरह से रुक गया है. जिसकी वजह से लेबर और मजदूर तबके को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं. आपको बता दें कि लॉकडाउन के कारण यहां कई प्रवासी मजदूर बेरोजगार हो गए हैं. ऐसे में उनकी मांग है कि सरकार को उन्हें अपने घर अपने गांव लौटने की अनुमति दे. लेकिन मजदूर ऐसी हरकत क्यों कर रहें हैं जब केंद्र की मोदी सरकार ने सभी गरीबों के लिए हर तरह से इंतजाम कर रखा है. उनके रहनेका खाने का सारी चीजों का उसके बाद इन लोगों को ये बात समझनी चाहिए और सरकार का इस मुश्किल परिस्तिथि में पूरा सहयोग करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *