Categories
News

विकास दुबे ए’नकाउं’टर में SIT जां’च में हो सकते है कई बड़े खुलासे, इन लोगों की जा सकती है नौकरी

कु’ख्यात अ’पराधी विकास दुबे जिसने 8 पुलिसकर्मियों की नि’र्मम तरीके से ह’त्या की और इस घ’टना ने पुरे देश को हिला’कर रख दिया था. उसके बाद यूपी STF ने विकास दुबे को एक ए’नकाउंट’र में मा’र गिराया था. विकास दुबे के मर’ने के बाद भी यूपी पुलिस उसके बचे हुए गुर्गों को पकड़ने में जुटी है. कानपुर के मामले में SIT जांच कर रही है. माना जा रहा है SIT टीम को जो सबू’त बिकरू गांव में मिल रहे हैं. उससे इस पूरे मामले में बड़े राज बाहर आ सकते हैं.

इस समय SIT जांच के माम’ले में जिस पर सबसे ज्यादा तल’वार लट’क रही है वो है विकास दुबे के लिए पुलिस की मुखबिरी  करने वाले पुलिसकर्मी. सूत्रो के  मुताबिक ये कहा जा रहा है कि इस मामले में जिन पुलिसवालों की भूमिका सं’दिग्ध है उनमें विनय तिवारी और  केके शर्मा है. जिन की गि’रफ्ता’री  के बाद इन दोनो लोगो पर कड़ी कार्य’वाई हो सकती है. अगर उनके खिला’फ लगाए गए चार्ज साबित हो जाते हैं, तो उन्हें पुलिस सेवा से बर्खा’स्त किया जा सकता है. 

कानपुर के’स में मुखबिरी करने वाले चौबेपुर के तत्कालीन एसओ विनय तिवारी और इंचार्ज केके मिश्र को गिर’फ्तार कर जे’ल भेज दिया गया है. आईजी मोहित ने मामले पर बात करते हुए ये बात कही थी, कि अगर चार्ज सही साबित होते हैं, तो उन पर स’ख्त कार्रवा’ई की जाएगी. 

विकास दुबे के मर’ने के बाद अब पुलिस की टीम उसके और जो बचे हुए गुर्गे है उनको पकड़ने में लगी है. इस मामले में जिस किसी का  नाम सामने आता है उनको किसी को ब’ख्शा नही जायेगा. विकास दुबे की प्रापर्टी पर भी सरकार ने जाँच पड़ताल शूरु कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *