Categories
Other

सपा सांसद शफिकुर रहमान बर्क ने बकरीद पर सरकारी नियमों के पालन की अपील के साथ दे डाली ध’मकी

कोरोन वायरस को लेकर कई मुस्लिम लोगों का मानना था की उनको कोरोना वायरस नहीं होगा. तो इस हिसाब से तो फिर पाकिस्तान के अंदर सबसे पहले कोरोना वायरस ख़’त्म हो जाना चाहिए था. लेकिन ऐसा नहीं हुआ इसको लेकर कई मुस्लिम लोगों ने अजीबोगरीब बयान भी दिए है. उत्तर प्रदेश के संभल से सपा सासंद शफीकुर्रहमान बर्क ने भी बकरीद पर नमाज अदा करने को लेकर बेतुका बयान दिया था. जिसके बाद एक बार फिर से सियासत ग’रमा गई है.

इन सबके बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने बकरीद के त्योहार पर कोरोना संक’ट को देखते हुए कुछ गाइडलाइंस जारी की है. जिसके बाद सरकार ने जनता से अपील की है कि वो इन गाइडलाइंस का पालन करें. दूसरी तरफ एक बार फिर से संभल से सपा के सांसद शफिकुर रहमान बर्क एक बार फिर से सक्रिय दिखाई दिये है. इस बार शफिकुर रहमान बर्क मीडिया के सामने आये है और उन्होंने बहुत कुछ ऐसा कह डाला जो अपील कम और ध’मकी ज्यादा लग रही थी. 

बकरीद पर सरकार की गाइड लाइन के पालन की अपील के दौरान समाजवादी पार्टी सांसद डॉ शफीकुर्र रहमान पूरी हनक में दिखाई दिए. सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क ने कहा कि ‘हिन्दुस्तान समेत सारी दुनिया के पास अभी तक कोरोना का कोई इलाज और वैक्सीन नहीं है. कोरोना का इलाज और वैक्सीन सिर्फ अल्लाह के पास है, इसलिए उन्होंने सरकार से बकरीद के मौके पर मस्जिदों में सामूहिक नमाज की इजाजत मांगी थी. लेकिन सरकार ने इजाजत नहीं दी इसलिए अब हम सरकार की गाइड लाइन का पालन करेंगे.’

उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ता हुए कहा कि ‘बकरीद पर मस्जिदों में सामूहिक नमाज की मांग को लेकर दिए गए उनके बयान पर उन्हें राजनीतिक ध’मकि’यां दी जा रही हैं, जे’ल भेजने के बयान दिए जा रहे हैं. बर्क ने मामले को तूल देते हुए कहा कि ऐसे बयान जो भी दे रहा है वो लोग ये समझ लें की वे कौम के लिए कु’र्बानी देने और जे’ल जाने से नहीं डरते है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *