Categories
News

कांग्रेस का आरोप: भाजपा के साथ मिल कर ये प्लान बना रहे हैं सचिन पायलट

राजस्थान के अंदर सियासी घ’मासा’न म’च गया हैं. सचिन पायलट ने एक बार फिर से अपनी ही पार्टी के खिला’फ मोर्चा खोल दिया हैं. राजस्थान के अंदर जबसे सरकार  बनी है. तबसे सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच अन’बन चल रही थी. सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनना चाहते थे. लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने अशोक गहलोत को वहां का सीएम बना दिया. तबसे अशोक गहलोत और सचिन के बीच अनब’न चल रही हैं.

राजस्थान के इस ताज़े मामले में सूत्रों का कहना है की सचिन पायलट का प्लान है कि वो बीजेपी को बाहर से समर्थन दे सकते है और वहां पर सरकार बनाने की कोशिश में लगे हैं. सूत्रों ने कहा है कि ‘पायलट के पास 12 विधायकों का समर्थन हो सकता है. हालांकि पायलट की ओर से दावा किया गया है कि उनके पास करीब 30 विधायकों का समर्थन है. लेकिन सूत्रों को डर है कि अगर बीजेपी कोशिश में लग जाए तो पायलट सरकार गिरा सकते हैं.’

सूत्रों का ये भी कहना है की पार्टी के आलाकमान की बात सचिन पायलट से हुई हैं. कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं ने  उनको मनाने की कोशिश की है. उन्होंने यह भी बताया कि यहां तक की पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के एक करीबी सहयोगी ने अभी एक हफ्ते पहले पायलट से बात करके मामला सुलझाने की कोशिश की थी.

कयास ये भी लग रहे है कि सचिन पायलट बीजेपी के संपर्क में है. पायलट या तो मुख्यमंत्री बनना चाहते है या फिर किसी भरी भरकम पोर्टफोलियो की मांग कर रहें हैं.  माना जा रहा है कि पायलट ने पेट्रोलियम मंत्रालय मांगा है. वहीं बीजेपी का कहना है कि उसने पायलट के पार्टी में शामिल होने को लेकर उनके सामने कोई शर्त नहीं रखी है. 

अब देखना ये है कि क्या कांग्रेस राजस्थान के अंदर अपने बिखरे हुए कुनबे को संभल पाती है या नहीं? क्या कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य निकल जायेगा. ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *