Categories
Other

इसी महीने भारत आने वाला है राफेल लड़ाकू विमान, तैनाती को लेकर वायुसेना की बड़ी बैठक

जिसका सबको इंतज़ार था वो पल आने वाला है. इसी महीने भारतीय वायुसेना को राफेल लड़ाकू विमान मिलने वाला है. वो राफेल जिसने 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान भारतीय राजनीति में भूचाल मचा दिया था. वही राफेल जो मौजूदा दौर का सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमान है. वही राफेल जिसके आने के बाद भारतीय वायुसेना अभेद्य हो जायेगी. इस महीने के अंत तक फ़्रांस राफेल की पहली खेप भारत को डिलीवर करेगा.

चीन के साथ बढे तनाव के बीच भारत सरकार और भारतीय वायुसेना बेसब्री से राफेल का इंतज़ार कर रही है. इसी हफ्ते भारतीय वायुसेना के शीर्ष कमांडर एक बड़ी बैठक करेंगे. इस बैठक में वायुसेना की तैयारियों को लेकर चर्चा होगी. साथ ही राफेल की तैनाती और उसे ऑपरेशनल करने को लेकर भी चर्चा होगी.

भारत और फ़्रांस के बीच 36 राफेल विमानों की डील हुई है. भारत को राफेल की पहली खेप 27 जुलाई को मिलें वाली है. इस पहली खेप में चार विमान भारत आने वाले थे और अंबाला एयरबेस पर तैनात होने वाले थे. लेकिन अब फ़्रांस पहली खेप में चार नहीं बल्कि 6 विमान भारत भेजेगा. चीन के साथ तनाव को देखते हुए फ़्रांस में भारत को पहली खेप में ज्यादा विमान भेजना तय किया है.

राफेल को पांचवीं पीढ़ी का लड़ाकू विमान माना जाता है जो दुनिया के सबसे बेहतरीन ल’ड़ाकू विमानों में से एक है. ये ल’ड़ाकू विमान प’रमा’णु ह’थिया’र ढोने समेत तमाम तरह के मिशन को अंजाम देने की क्षमता रखता है. राफेल की मा’रक क्षमता 3700 KM. है जबकि यह 1900 KM. प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है. ये हवा से हवा और हवा से जमीन दोनों तरह के लक्ष्य को भेद सकता है. इस विमान में ऑक्सीजन जनरेशन सिस्टम लगा है और लिक्विड ऑक्सीजन भरने की जरूरत नहीं पड़ती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *