Categories
Other

ये चार अधिकारी रोज शाम मीडिया के सामने पूरे देश को देते हैं कोरोना वायरस से जुड़ी हर अपडेट

ऐसे वक़्त में जब कोरोना महामारी के रूप में देश में फ़ैल रहा है. लोगों के मन में तरह तरह की आशंकाएं घर कर रही है. पूरे देश में लॉकडाउन है. हर रोज शाम को चार अधिकारी देश की राजधानी दिल्ली में एक साथ बैठकर मीडिया के माध्यम से जनता को कोरोना के बारे में अपडेट और जानकारी देते हैं. ये चार अनजान चेहरे अचानक ही सारे देश के लिए जाना पहचाना चेहरा बन गए. लेकिन ये कौन है क्या आप जानते हैं? आइये हम आपको बताते हैं इनके बारे में.

चार अधिकारी जो हर शाम एक साथ मीडिया के सामने आ कर देश को कोरोना के बारे में हर अपडेट देते हैं वो हैं स्वास्थ्य मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी लव अग्रवाल, गृह मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी पुण्य सलीला श्रीवास्तव, प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के डायरेक्टर जनरल के. एस. धतवालिया और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) डॉक्टर रमन आर. गांगाखेड़कर.

लव अग्रवाल : लव अग्रवाल केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में जॉइंट सेक्रेटरी हैं. वो 1996 बैच के आंध्र प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी हैं. मूल रूप से यूपी के रहने वाले लव अग्रवाल ने 2016 में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में जॉइंट सेक्रेटरी का पदभार संभाला था.

पुण्य सलीला श्रीवास्तव : पुण्य सलीला श्रीवास्तव केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव (नारी सुरक्षा) के पद पर तैनात हैं. सलीला श्रीवास्तव 1993 बैच की अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम ऐंड यूनियर टेरिटरीज काडर (AGMUT) काडर की आईएएस अधिकारी हैं. साल 2018 में जब पहली बार गृह मंत्रालय में नारी सुरक्षा का अलग से विभाग बनाया गया तो इसकी जिम्मेदारी सलीला को सौंपी गई.

के. एस. धतवलिया : धतवालिया प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) के डायरेक्टर जनरल हैं. वो देश के प्रतिष्ठित पत्रकारिता संस्थान इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन के भी डायरेक्टर जनरल भी हैं. वो केंद्र सरकार की तरफ से डेली प्रेस ब्रीफिंग के लिए आते हैं. धतवलिया इंडियन इन्फॉर्मेशन सर्विस (IIS) के 1984 बैच के अफसर हैं.

डॉक्टर रमन आर. गांगाखेड़कर : डॉक्टर रमन आर. गांगाखेड़कर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) में महामारी और संक्रामक बीमारियों के विभाग के प्रमुख हैं. देश में किस स्तर पर कोरोना वायरस फ़ैल रहा है, किस तरह से इसका बचाव करना है जैसी जानकारी ये देश के साथ साझा करते हैं. उन्होंने 1981 में गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, औरंगाबाद से मेडिसिन में एमबीबीएस किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *