Categories
Other

शायर मुनव्वर राणा का विवादित ट्वीट, कहा ‘भारत में 100 करोड़ जानवर और 35 करोड़ इंसान रहते हैं’ बवाल होने पर दी सफाई

मुनव्वर राणा कहने को तो शायर हैं लेकिन ज़हर उनके एक एक शब्द से टपकता है. यूँ तो तो बता बात पर इ’स्लामो’फोबि’या की बात करते हैं लेकिन खुद हिन्दुफोबि’या से ग्र’स्त हैं और शायर मुखौटे के पीछे अपना एजेंडा चलाते हैं. उन्होंने एक ट्वीट किया जिसको लेकर ब’वाल मचा गया. इस ट्वीट में उन्होंने देश के 100 करोड़ लोगों को जानवर और 35 करोड़ लोगों को इंसान बताया था. उनका इशारा किस तरफ था ये समझना लोगों के लिए मुश्किल नहीं था.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को संबोधित करते हुए उन्होंने लिखा, ‘डियर संबित, कॉन्ग्रेस की जवानी में तो आप गब्हे पे रहे होंगे (गब्हे का मतलब आप उड़ीसा में नहीं, यूपी में पूछना). लेकिन कोरोना पर सरकार की नाकामी ने मेरी इस बात को सही साबित किया कि भारत में 35 करोड़ इंसान और 100 करोड़ जानवर रहते हैं, जो सिर्फ वोट देने के काम आते हैं.’

मुनव्वर राणा के इस ट्वीट को देखते ही लोग भड़क गए. जब बवाल बढ़ा तो मुनव्वर सफाई देने लगे कि उन्होंने उनके ट्वीट को तोड़ मरोड़ कर उसका गलत मतलब निकाला जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैं तो 100 करोड़ उनलोगों की बात की जो गरीबी में जी रहे हैं और 30 करोड़ जो खुशहाल हैं.

मुनव्वर राणा इन दिनों अणि शायरी के लिए कम और मोदी विरोध के लिए ज्यादा पहचाने जाते हैं. उनकी बेटियां तो CAA विरोधी प्रदर्शनों का मुख्य चेहरा रही है. शायर होने के नाते लोगों को CAA का सही मतलब समझाने के बजाये मुनव्वर और उनके परिवार ने अपने समुदाय के लोगों को गुमराह करने का ही काम किया है. लोगों ने मुनव्वर राणा को जमकर खरीखोटी सुनाई. आपको याद न हो तो बता दूँ कि मुनव्वर राणा असहिष्णुता गैंग के भी प्रमुख सदस्य थे जिन्होंने टीवी पर अपने अवार्ड्स लौटा कर चर्चा बटोरी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *