Categories
Other

MP में दलित किसान पर पुलिस ब’र्बर’ता के बाद एक्शन में शिवराज सरकार, कलेक्टर और एसपी पर गिरी गाज

मध्य प्रदेश में दलित किसानों पर पुलिस ब’र्बर’ता के मामले ने तूल पकड़ लिया. मिन्नत करते और रोते बिलखते दलित किसान दंपत्ति पर अनगिनत ब’रस”ती लाठियों वाले वीडियो को पूरे देश ने देखा. मध्य प्रदेश पुलिस और शिवराज सरकार सवालों के घेरे में है और विरोधियों के निशाने पर भी है. चूँकि मामला दलितों से जुड़ा है तो सियासत भी खूब तेज है. राहुल गाँधी से लेकर मायावती तक इस ज’घन्यत’म घटना को लेकर एक्टिव हो गए हैं और शिवराज सरकार पर निशाना साध रहे हैं.

हर तरफ से घिरी शिवराज सरकार एक्शन में आई और बुधवार की देर रात कलेक्टर और एसपी को हटा दिया गया. साथ ही इस घटना में शामिल 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. गुना पुलिस अधीक्षक की ओर से जारी बयान के मुताबिक, मामले में कार्रवाई करते हुए उप निरीक्षक अशोक सिंह कुशवाह, आरक्षक राजेंद्र शर्मा, आरक्षक पवन यादव, महिला आरक्षक नीतू यादव और महिला आरक्षक रानी रघुवंशी को निलंबित कर दिया है.

मजिस्ट्रेट ने जांच के आदेश दिए हैं और 30 दिनों के भीतर जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है. तबादले से पहले कलेक्टर एस. विश्वनाथन ने बताया था कि बच्चों की देखभाल के लिए कोई नहीं है, इसलिए उन्हें अनाथाश्रम में रखा जाएगा. इस परिवार के पुनर्वास के लिए भी हम इंतजाम कर रहे हैं.

इस पूरे मामले में भू माफिया गप्पू पारदी का नाम आ रहा है. पुलिस उसपर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है. मॉडल कॉलेज निर्माण के लिए शासकीय कॉलेज मैनेजमेंट को 20 बीघा जमीन जगनपुर चक क्षेत्र में आवंटित की गई थी. जब निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका और जमीन खली पड़ी रही तो इस पर इस जमीन पर गप्पू पारदी ने कब्ज़ा कर लिया. राजस्व विभाग ने वर्ष 2019 में ही कब्जा हटा दिया था. गप्पू पारदी को बेदखल कर दिया गया था. लेकिन कुछ दिनों बाद फिर उसने जमीन पर कब्ज़ा कर लिया और बटाई पर दे दी. दलित किसान राजकुमार अहिरवार और उसकी पत्नी इस पर खेती करने लगे. गप्पू पारदी ने ही ये जमीन उन्हें बटाई पर दी थी.

जमीन पर अब तक निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाने के बारे में जब ठेकेदार राधेश्याम अग्रवाल से पूछा गया तो उसने बताया कि हमें जमीन खाली मिली ही नहीं तो निर्माण कैसे शुरू होता. जमीन खली करवाने के लिए फिर से पत्र लिखा गया था जिसके बाद पुलिस जमीन खाली करवाने पहुंची और ये सब हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *