Categories
News

चीन के खतरे से निपटने के लिए मोदी सरकार ने सेना को दिया ये विशेष अधिकार, अब सेना…

लद्दाख की ग’लवान घाटी में चीन से चल रहा वि’वाद थम नही रहा है. गलवान घा’टी में हुई झ’ड़प के बाद से ही मोदी सरकार ए’क्शन में है और सेना को सीमा पर खु’ली छूट दे दी है और कहा है चीन को उसके हर दु’स्सा’हस का मुं’हतोड़ जवाब दिया जाए. वहीँ भारत सरकार ने एक के बाद एक चीन को बड़े झट’के देना शुरू कर दिया जिसके चलते चीन की कम’र टू’ट गयी.

जानकारी के लिए बता दें गलवान घा’टी में हुई झ’ड़प के बाद मोदी सरकार ने कई चीनी कंपनियों के साथ हुई हजारों करोड़ रूपये की डील को र’द्द कर दिया था. इतना ही नहीं टिकटोक समेत 59 चीनी ऐप को भी बै’न कर दिया था जिसके बाद चीन बु’री तरह ति’लमि’ला गया है. वहीँ अजीत डोभाल के चीन में बात करने के बाद गलवान घा’टी से चीनी सेना भी पी’छे हट गयी थी. इसी बीच सेना को लेकर एक और बड़ी खबर आ रही है.

दरअसल लद्दाख में सीमा वि’वाद और चीन के साथ 1962 के बाद अब तक के सबसे बड़े तना’व के बीच सरकार ने सेना को लेकर बड़ा क’दम उठाया है. बुधवार को सरकार ने सेना को सै’न्य ब’लों को फौरन अपनी तात्कालिक जरूरतों को देखते हुए 300 करोड़ रूपये तक के ह’थिया’र और गो’ला बारूद खरीदने की इजाजत दे दी है. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बात की जानकारी सभी को दी है. सरकार के इस कदम के बाद सेना अपने स्तर पर 300 करोड़ तक के ह’थिया’र खरीद सकेगी.

गौरतलब है कि बुधवार को मंत्रालय की तरफ से दिए गये बयान के में कहा गया है कि “यह खरीद की समय-सीमा को घटाएगा और छह महीने के भीतर आदेशों की पूर्ति सुनिश्चित करेगा और एक साल की भीतर डिलीवरी शुरू कर देगा.” यह फैसला रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई मीटिंग के बाद लिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *