Categories
Other

राजस्थान के सियासी ड्रामे में हुई मायावती की इंट्री, माया ने की राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

राजस्थान के सियासी ड्रामे में अब बसपा सुप्रीमो मायावती की एंट्री हो गई है. मायावती ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर ताबड़तोड़ हमले किये औरुन्पर धोखेबाजी का आरोप लगाया. मायावती ने ये भी कहा कि अब गहलोत फोन टैपिंग जैसा असंवैधानिक काम भी करने लगे हैं.

शनिवार की सुबह मायावती ने ट्वीट किये और अशोक गहलोत पर जमकर बरसीं. मायावती ने ट्वीट कर कहा, ‘राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने पहले दल-बदल कानून का खुला उल्लंघन व बीएसपी के साथ लगातार दूसरी बार दगाबाजी करके पार्टी के विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराया और अब जग-जाहिर तौर पर फोन टेप कराके इन्होंने एक और गैर-कानूनी व असंवैधानिक काम किया है.’

एक अन्य ट्वीट में मायावती ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करते हुए कहा, ‘राजस्थान में लगातार जारी राजनीतिक गतिरोध, आपसी उठा-पठक व सरकारी अस्थिरता के हालात का वहाँ के राज्यपाल को प्रभावी संज्ञान लेकर वहाँ राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करनी चाहिए, ताकि राज्य में लोकतंत्र की और ज्यादा दुर्दशा न हो.’

गौरतलब है कि 2018 में हुए राजस्थान विधानसभा चुनाव में बसपा ने 6 सीटें हासिल की थी. मायावती ने सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को समर्थन दे दिया था. लेकिन कुछ महीनों बाद गहलोत ने सभी बसपा विधायकों को कांग्रेस में शामिल करा लिया जिससे मायावती भड़क गईं और कांग्रेस पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *