Categories
Other

लालजी टंडन को चांदी की राखी बांध कर मुंहबोला भाई बनाया था मायावती ने, श्रद्धांजलि देते हुए कहा…

22 अगस्त 2002, रक्षा बंधन के अगले ही दिन अखबारों का पहला पन्ना एक तस्वीर छपी जो काफी चर्चित हुई. इस तस्वीर में बसपा सुप्रीमो मायावती, भाजपा नेता लालजी टंडन को चांदी की राखी बाँध रही थीं. मायावती ने लालजी टंडन को अपना मुंहबोला भाई बनाया था. हालाँकि बाद में कभी ऐसी तस्वीर दोबारा देखने को नहीं मिली. इसे महज एक राजनीतिक स्टंट ही माना गया. क्योंकि 2002 में ही भाजपा के सहयोग से मायावती उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनी थीं. और इस गठबंधन को करवाने में लालजी टंडन ने अहम भूमिका निभाई थी. अपने मुंहबोले भाई लालजी टंडन के निधन की खबर जब मायावती को मिली तो वो भावुक हो गईं.

मायावती ने लालजी टंडन के निधन पर ट्विटर पर लिखा, ‘मध्यप्रदेश के गवर्नर व यूपी में बीजेपी की सरकार में कई बार वरिष्ठ मंत्री रहे श्री लालजी टण्डन, जो काफी सामाजिक, मिलनसार व संस्कारी व्यक्ति थे, उनका इलाज के दौरान आज लखनऊ में निधन होने की खबर अति-दुःखद व उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना.’

लालजी टंडन ने लखनऊ के मेदांता अस्पताल में आखिरी साँस ली. वो कुछ वक़्त से बीमार चल रहे थे. लालजी टंडन मध्य प्रदेश के राज्यपाल थे. लालजी टंडन भाजपा के उन नेताओं में से थे जो पार्टी की स्थापना के साथ से ही पार्टी के साथ थे. पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के बहुत करीबी थे. जब वाजपेयी ने राजनीति से सन्यास लिया तो लालजी टंडन ने लोकसभा सीट लखनऊ से उनका प्रतिनिधित्व किया. वो वाजपेयी के बाद लखनऊ से सांसद चुने गए. वाजपेयी और लालजी टंडन का साथ 5 दशकों का रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *