Categories
Other

मैच फिक्सिंग में ये बड़ा इंडियन क्रिकेटर हुआ गिरफ्तार,सट्टेबाजों के संपर्क में होने का आरोप

एक बार फिर भारतीय क्रिकेट जगत में मैच फिक्सिंग का मंज़र शुरू हो गया हैं। भारतीय प्रीमियर लीग (आईपीएल) की तरह ही (केपीएल) कर्नाटक प्रीमियर लीग में मैच फिक्सिंग का एक मामला सामने आया हैं और उसमे एक खिलाड़ी गिरफ्तारी भी हुई हैं । आयिए जानते हैं इस मैच फिक्सिंग का पूरा मामला क्या हैं ।

दरअसल आईपीएल के तरह बेंगलुरु में होने वाली (केपीएल) कर्नाटक प्रीमियर लीग में एक भारतीय क्रिकेट टीम के एक बड़े खिलाड़ी का सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग में नाम सामने आया हैं । भारतीय क्रिकेटर निशांत सिंह शेखावत को सट्टेबाजी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया हैं । इस बात की जानकारी बेंगलुरु के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) एस पाटिल ने दी थी ।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) एस पाटिल ने बताया कि- ‘निशांत सिंह शेखावत सट्टेबाजों के संपर्क में थे और खिलाड़ियों को फिक्स करने के लिए बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के गेंदबाजी कोच विनू प्रसाद को भी अपने संपर्क में लिया था। एक ख़ास बात यह है कि विनू प्रसाद पहले भी मैच फिक्सिंग के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं ।

बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के गेंदबाजी कोच विनू प्रसाद और बल्लेबाज विश्वनाथन को भी पिछले हफ्ते शुक्रवार को मैच फिक्सिंग के एक अलग मामले में गिरफ्तार किया गया था।

कोच पर पिछले साल बेंगलुरु ब्लास्टर्स और बेलागावी पैंथर्स टीम के बीच केपीएल के तहत खेले गए मैच को प्रभावित करने का आरोप है.

बेलागवी पैंथर्स के मालिक भी हुए गिरफ्तार

पिछले महीने कर्नाटक प्रीमियर लीग की एक टीम बेलागवी पैंथर्स के मालिक अशफाक अली थारा को सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में बेंगलुरु में गिरफ्तार किया गया हैं उर वही कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) द्वारा संचालित केपीएल टूर्नामेंट इस साल 16 से 31 अगस्त तक खेला गया था।

यात्रा और पर्यटन व्यवसायी अशफाक अली थारा ने 2017 में बेलागवी पैंथर्स टीम खरीदी थी और केंद्रीय अपराध शाखा ने कई दिनों की पूछताछ करने के बाद अशफाक को गिरफ्तार किया।अशफाक के अलावा केपीएल से जुड़ी और भी टीमों के खिलाड़ियों से भी पूछताछ की गई थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *