Categories
News

166 जमातियों का बड़ा कबूलनामा, मौलाना साद ने ही कहा था उन्हें कि…

भारत में कोरोना का कहर थम नही रहा है. केंद्र सरकार औ राज्य सरकारों की तमाम कोशिशों के बावजूद भी मरीजों की संख्या में इस समय जो बंपर उछाल आ रहा है उसने सभी को हैरान कर दिया है. पूरे देश में चल रहे लॉकडाउन के बीच भारत में अब हर दिन करीब 3 हजार से ज्यादा मरीजों की संख्या बढ़ रही है. जिसके चलते अब कोरोना के संक्रमित लोगों की संख्या 78 हजार के पार हो गयी है.

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन के मरकज कार्यक्रम में शामिल हुए जमाती पूरे देश में अलग अलग भाग गये. जिसके बाद जमातियों से काफी लोगों में कोरोना फ़ैल गया. वहीँ इनका सरगना मौलाना साद अभी तक फरार है, वो खुद जहाँ-जहाँ गया वहां भी कोरोना के मरीज निकले, जिसके बाद सरकार ने कहा जमातियों से कहा कि वो खुद बाहर आ जाएँ नही तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अब बड़ा एक्शन लेते हुए कई जमातियों को गिरफ्तार कर उन्हें चेकअप के लिए भेजा. अब मौलाना साद के बेटे और रिश्तेदारों समेत 166 जमातियों से पूछताछ की गयी जिसमें उन्होंने बड़े खुलासे किये हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया गया है कि ज्यादातर जमातियों ने माना है कि 20 मार्च के बाद मरकज में रुकने के लिए मौलाना साद ने ही बोला था.

गौरतलब है कि इन जमातियों ने कबूलनामा किया है कि मौलाना साद ने ही उन्हें रुकने को बोला था जिसके बाद काफी लोगों में कोरोना का संक्रमण फ़ैल गया. ज्यादातर जमातियों ने क्राइम ब्रांच को बताया कि वो खुद मरकज से निकलना चाहते थे लेकिन मौलाना साद ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया. वहीँ सूत्रों के अनुसार ये भी बताया गया है कि साद जानबूझकर अपना कोविड टेस्ट सरकारी अस्पताल से नहीं करवाना चाहता है. इसके पीछे की वजह ये है कि कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आती है तो क्राइम ब्रांच मौलाना साद को पूछताछ के लिए बुला सकती है. इतना ही नहीं विदेश से आये 700 जमातियों के पासपोर्ट कैंसिल करने के लिए गृह मंत्रालय को कहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *