Categories
Other

20 लाख करोड़ के पैकेज के ऐलान के साथ भारत ने चीन फ़्रांस और ब्रिटेन को छोड़ दिया पीछे , देखिये बाकी देशों की स्थिति

कोरोना और लॉकडाउन की वजह से मुश्किल हालात झेल रहे देश को पीएम मोदी ने सहारा देते हुए 20 लाख करोड़ के विशेष आर्थिक राहत पैकेज का ऐलान किया. ये आर्थिक पैकेज देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए है. पीएम मोदी ने इस आर्थिक पैकेज की घोषणा करते हुए आत्मनिर्भर भारत अभियान का आह्वान किया है. पीएम मोदी ने जिस आर्थिक पैकेज की घोषणा की वो देश ई GDP का 10 प्रतिशत है. इस अआर्थिक पॅकेज के साथ ही भारत उन देशों की कतार में खड़ा हो गया जिन्होंने कोरोना और लॉकडाउन की वजह से आई आर्थिक संकट से निपटने के लिए भारी भरकम आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है. आइये नज़र डालते हैं उन देशों पर.

जापान : जापान भारत का मित्र देश है. पीएम मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे की दोस्ती जगजाहिर है. टेक्नोलॉजी के लिए विख्यात जापान में कोरोना वायरस के 15,847 मामले ही सामने आये हैं. जबकि 633 लोगों की मौत हो चुकी है. परमाणु हमले जैसी भीषण त्रासदी से सफलतापूर्वक निपट चुके जापान ने कोरोना संकट से अपने देश को उबारने के लिए अपनी GDP का 21.1 प्रतिशत हिस्सा राहत पैकेज के रूप में देने का ऐलान किया. जापान की GDP 4.97 लाख करोड़ है.

अमेरिका : ओरोना वायरस ने अमेरिका में सबसे ज्यादा हाहाकार मचाया. विश्वशक्ति होने का दम भरने वाले अमेरिका को इस वायरस ने घुटनों पर ला दिया. करीब 1,395,026 लोग अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित हैं जबकि 82,555 की मौत हो चुकी है. अमेरिका की GDP 20.54 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर की है और अमेरिका ने कोरोना वायरस की वजह से आये संकट से निपटने के लिए अपनी GDP का 13 प्रतिशत हिस्सा राहत पैकेज के लिए देने का ऐलान किया है.

स्वीडन : स्वीडन में कोरोना के करीब 28 हज़ार मामले सामने आये हैं . जबकि 3,313 लोगों की मौत हो चुकी है . स्वीडन की GDP 55,608 अमेरिकी डॉलर की है और स्वीडन ने अपनी GDP का 12 प्रतिशत हिस्सा राहत पैकेज के रूप में देने का ऐलान किया है .

जर्मनी : जर्मनी में कोरोना के 172,812 मामले सामने आये जबकि 7,676 लोगों की जान कोरोना की वजह से गई . जर्मनी की GDP 3.95 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर की है और जर्मनी ने अपनी GDP का 10.7 प्रतिशत हिस्सा राहत पैकेज के रूप में देने का ऐलान किया.

इस तरह से देखें तो भारत दुनिया के टॉप 5 देशों में शामिल है जिसने संकट से उबरने के लिए अपनी GDP का एक बड़ा हिस्सा राहत पैकेज के रूप में देने का ऐलान किया है. भारत इस लिस्ट में पांचवें नंबर पर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *