Categories
Other

कोरोना से पस्त पाकिस्तान पर टूटा मुसीबत का एक और पहाड़, अब क्या करेंगे इमरान

कोरोना की त्रासदी झेल रहे पाकिस्तान पर मुसीबत का एक और पहाड़ टूट पड़ा है. पहले से ही कंगाल पाकिस्तान को इस बार झटका दिया है अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष पाकिस्तान को बेलआउट पैकेज की तीसरी क़िस्त जारी करने वाली थी. लेकिन पाकिस्तान उसकी उम्मीदों पर खड़ा नहीं उतर पाया और IMF ने पाकिस्तान को तीसरी क़िस्त देने से मना कर दिया.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने पिछले साल आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान के लिए बेलआउट पैकेज का ऐलान किया था. पाकिस्तान को इसकी 2 क़िस्त दी जा चुकी है. इस बेलआउट पैकेज की शर्त ये थी कि पाकिस्तान को IMF की शर्तों को पूरा करना होगा तभी अगली क़िस्त रिलीज की जायेगी. इस क़िस्त के तहत पाकिस्तान को 45 करोड़ डॉलर की राशि मिलनी थी. इसके लिए समीक्षा बैठक 6 मार्च को होनी थी लेकिन बाद में IMF ने इसे 10 अप्रैल तक के लिए टाल दिया. IMF ने पाकिस्तान के सामने शर्त राखी थी कि बेलआउट पैकेज मिलने के बाद उसे आर्थिक सुधार लागू करना होगा लेकिन उसने ऐसा नहीं किया. कहा जा रहा है कि इन पैसों से वो दुसरे मुल्कों के कर्ज चुकाता रहा. पाकिस्तान पहले से ही चीन, सऊदी अरब और UAE के कर्ज तले दबा हुआ है और दिवालिया होने की क्कागार पर पहुँच चुका है.

इसी बीच कोरोना ने पाकिस्तान की कमर पूरी तरह तोड़ दी. आर्थिक नुकसान की वजह से पाकिस्तान ने लॉकडाउन लागू नहीं किया, जिसका खामियाजा उसे कोरोना के बढ़ते संक्रमण के रूप में चुकाना पड़ा. हालत ये है कि पकिस्तान के पास अब इतने पैसे भी नहीं कि वो कोरोना से लड़ सके. पाकिस्तान ने कोरोना से लड़ने के लिए भी IMF से 1.4 अरब डॉलर की राशि मांगी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *