Categories
Other

अपने स्मार्टफोन के इस सेटिंग को तुरंत करें चेंज,नहीं तो हैकर्स चुरा सकते हैं आपका डाटा

क्या आप लोग यह बात जानते हैं कि इस समय देश के लगभग 50 फीसद से ज्यादा स्मार्टफोन यूजर्स के पास ओरियो 8.0 या उससे ऊपर के anroid वर्जन वाले स्मार्टफोन्स हैं। हाल ही में Y. Shafranovich नाम के एक रिसर्चर ने एक ऐसे बग का खुलासा किया जिसे जानकर आप हैरान रह जायेंगे । उनके मुताबिक, हैकर्स  ने Samsung जैसे Android 8 या उससे ऊपर के स्मार्टफोन्स को NFC बीमिंग के जरिए टारगेट किया हैं। रिसर्चर ने बताया की NFC बीमिंग की मदद से हैकर्स यूजर्स के स्मार्टफोन्स में मैलवेयर अटैक कर रहे हैं। आज हम आपको यह बताने वाले हैं की ये हैकिंग कैसे की जा रही हैं और कैसे आप लोग इससे बचाव कर सकते हैं ।

उन्होंने ने कहा की Android 8 या उससे ऊपर के ऑपरेटिंग सिस्टम वाले डिवाइस में आई एक बग की वजह से ये हैकर्स मैलवेयर अटैक के नजरिए डाटा चोरी कर लेते हैं। आपको बता दें कि NFC बीमिंग क्यों इस्तेमाल किया जाता हैं , मैलवेयर जब दो डिवाइस आसपास में होती हैं तो Android बीम ऑटोमैटिक तरीके से एक दूसरे डिवाइस के डाटा को कॉपी कर लेते हैं।

हालांकि, गूगल ने कहा हैं की वो इस बग को ठीक करने का प्रयास कर रहे है। इसिलए ऐसे में आपको थोड़ी सावधानी बरतनी पड़ेगी, जिससे की आपके स्मार्टफोन का डाटा चोरी न हो सके। बता दें कि Android बीम के जरिए ऐप इंस्टॉलेशन फाइल्स जिसे APK फाइल कहते हैं, जिस में चोरी की जा सकती हैं । इस बग की वजह से Android यूजर्स का डाटा जब एक स्मार्टफोन से दूसरे स्मार्टफोन में ट्रांसफर होता है तो यूजर को मिलने वाले वॉर्निंग मैसेज को यह बग बाईपास कर देता है, जिसकी वजह से यूजर्स को पता नहीं चल पाता है कि उनका डाटा चोरी किया जा रहा है। गूगल ने अक्टूबर 2019 में इस बग से यूजर्स को बचाने के लिए सिक्युरिटी अपडेट भी रिलीज किया था ।

कैसे करे बचाव ?

इस बग से बचने के लिए सबसे पहले जरूरी काम यह है कि यूजर अपने डिवाइस को गूगल के लेटेस्ट सिक्युरिटी अपडेट से पैच कर लें। जिन यूजर्स के पास Android One या स्टॉक Android वाला डिवाइस नहीं है वो अपने मैन्युफेक्चरर्स द्वारा जारी किए गए अपडेट को डाउनलोड करें, और अगर आप अपने डिवाइस को अपडेट नहीं कर पा रहे हैं, तो NFC को स्वीच ऑफ कर दें। हालांकि, ये बग केवल NFC इनेबल्ड डिवाइस में ही काम करता है, ऐसे में जिन यूजर्स के डिवाइस में NFC फीचर नहीं है, उनके लिए कोई परेशानी नहीं होगी।

NFC कैसे करें स्वीच ऑफ?

दरअसल, NFC एक वायरलेस कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल है, जो दो इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को आपस में कनेक्ट करता है। ये खासतौर पर पेमेंट सिस्टम के लिए इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही साथ कुछ ऑडियो डिवाइस भी इस फीचर के जरिए कनेक्ट होते हैं। NFC ब्लूटूथ की तरह ही काम करता है। पेमेंट सिस्टम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले इस कम्युनिकेशन सिस्टम में आई बग की वजह से ही यूजर्स को ज्यादा खतरा है। इसे स्वीच ऑफ करने के लिए अपने स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं, वहां कनेक्टिविटी ऑप्शन्स में जाकर इसे ऑफ कर दें। ऐसा करने से आप अपना डाटा चोरी होने से बचा सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *