Categories
Other

गिरिराज सिंह ने राहुल गाँधी पर क’सा तं’ज कहा ‘फसल भी नही पहचान…’

कोरोना सं’कट में भी कांग्रेस राजनीति करने से नहीं चूक रही हैं. फिर चाहे वो मजदूरों को लेकर राजनीति हो या फिर मजदूरों ,किसानो को लेकर उनको राहत पैकेज को लेकर राजनीति करना हो कांग्रेस इस मामले में कभी भी पीछे नहीं हटती हैं. उसकी रग-रग में सिर्फ राजनीतिक रोटियां ही सेकनी आती हैं.

कोरोना के वक़्त भी देश प्रधानमंत्री मोदी ने हर वर्ग का ध्यान रखते हुए उनके लिए कोई न कोई कदम जरुर उठाया है. पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए उस दिन राहत पैकेज का ऐलान किया था. जिसको बाद में वित्त मंत्री ने विस्तार से प्रेस कांफ्रेंस कर के बताया था कि किस को क्या क्या मिलेगा.

लेकिन राहुल गाँधी और कांग्रेस जब सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान नहीं किया था तो भी दिक्कत थी और आज जब सरकार ने लघु उद्द्योग,किसानो, मजदूरों सभी के लिए कुछ न कुछ दिया हैं तो भी राहुल गाँधी को और उनकी कांग्रेस पार्टी के पेट में दर्द हैं. ऐसा लगता हैं की कांग्रेस को अब करना क्या हैं कुछ भी समझ नही आ रहा हैं बस जो मन में आये बोल दो.

राहुल गांधी ने कहा कि “जब बच्चों को चोट पहुंचती है, तो मां उनको कर्जा नहीं देती, बल्कि राहत के लिए तुरंत मदद देती है. कर्ज का पैकेज नहीं होना चाहिए था, बल्कि किसान, मजदूरों की जेब में तुरंत पैसे दिए जाने की आवश्यकता है.” राहुल ने कहा कि डिमांड को स्‍टार्ट करने के लिए अगर हमने पैसा नहीं दिया तो बहुत बड़ा आर्थिक नुकसान होगा. उन्‍होंने कहा कि ‘प्‍यार से बोल रहा हूं, इस पैकेज को सरकार रिकंसीडर करे.’

राहुल के इस बयान के बाद भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने राहुल को आ’ड़े हाथो लेते हुए उनपर ह’मला किया हैं और कहा है कि ‘राहुल को फसल पहचानने की भी क्षमता नहीं है.’ शायद कही न कही गिरिराज सिंह ने ये बात सही कही है क्योकि राहुल गाँधी कब क्या बोलेंगे ये राहुल और कांग्रेस के किसी भी नेता को नहीं पता हैं. रही बात राहुल गाँधी की तो वो टोटली कंफ्यूज हो चुके हैं. उनको समझ नहीं आता है कि कब क्या बोलना हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *