Categories
Other

कम नही हो रहा कोरोना कहर,लॉकडाउन को लेकर ये फैसला कर सकती है सरकार

 को’रोना वाय’रस के चलते देश में लॉकडाउन की स्तिथि बनी हुए हैं. सरकार इस वाय’रस से निपटने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और जनता को लेकर एक बाद एक बड़े कदम उठा रही है. सरकार द्वारा उठाये गए क़दमों कि जितनी तारीफ कि जाये उतनी कम हैं. सरकार लगतार लोगों को घरों में रहने की अपील कर रही है.ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी चपेट से बचाया जा सके और अगर अभी भी लोग इस बात को नहीं समझते है तो कयास ये भी लगया जा रहा है कि लॉकडाउन बढाया जा सकता है.

को’रोना वाय’रस के’स लगातार देश में बढ़ते जा रहे हैं. अब तक 4 हजार से ज्यादा लोग को’रोना पॉजिटिव  पाए गए हैं. ये सारी देन उस जा’हिल जमा’त के लोगों कि हैं जिनकी वजह से आज को’रोना के के’स इतनी ज्यादा संख्या में बढ़ गए हैं.  जा’नलेवा को’रोना वाय’रस के बढ़ते प्र’कोप को ख’त्म करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 दिनों पहले देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. ये लॉकडाउन 14 अप्रैल तक रहेगा. इस बीच देश के मन में सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या सरकार 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन जारी रखेगी या इसे ख’त्म कर दिया जाएगा. देश में अभी तक को’रोना स्टेज 3 में तो नहीं पहुंचा है, लेकिन मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

सरकार की तरफ से लॉकडाउन की घोषणा का मकसद को’रोना वाय’रस को सामुदायिक तौर पर फैलने से रोकना था. कल पीएम मोदी बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था, ‘’ये लंबी लड़ाई है, न थकना है, न हारना है. लंबी लड़ाई के बाद भी जीतना है. विजयी होकर निकलना है. आज देश का लक्ष्य एक है, मिशन एक हैं और संकल्प एक है.

आपको बता दें कि देश के सात राज्यों ने संकेत दिए हैं कि वह लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद भी बढ़ा सकते हैं. ये राज्य महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, असम और झारखंड हैं. जो हालत देश के अंदर को’रोना को लेकर चल रहने हैं उससे ये साफ़ तौर पर समझ आ रहा है कि 14 अप्रैल को खुलने वाला नहीं है ये लॉकडाउन. क्योकि मर’कज़ के लोगों द्वारा की गई हर’कत से देश में और भी ज्यादा मरीज 24 घंटे के अंदर बढ़ गए हैं. तो अभी लॉकडाउन खुलने का इंतज़ार और बढ़ सकता है सिर्फ कुछ लोगों कि वजह से और हो सकता हैं न ट्रेन, बस, फ्लाइट भी नहीं चली जाएँगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *