Categories
Other

शारीरिक संबंध बनाते हुए भी फैल सकता है डेंगू, सामने आया पहला मामला

आजकल सर्दियों के शुरुवाती वक़्त में डेंगू की बिमारी बहुत जल्दी- जल्दी फैलना शुरू हो जाती हैं , और हर साल भारी तादाद में डेंगू के मरीजों कि संख्या सामने आती हैं । डेंगू एक तरह का बुखार एवं एक संक्रमण है जो की डेंगू वायरस के कारण होता है। मच्छर हैं जो डेंगू वायरस को संचरित करते हैं। दरअसल इस वर्ष सितंबर में स्पेन के एक व्यक्ति को डेंगू से ग्रसित पाया गया और उसके डेंगू की बीमारी से डॉक्टर्स ने चौकाने वाला खुलासा किया हैं आयिए जानते हैं की आखिर ये मामला क्या हैं ।

स्पेन में डॉक्टरों ने यौन संपर्क के माध्यम से डेंगू वायरस के संक्रमण का पहला मामला दर्ज किया है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक व्यक्ति द्वारा सेक्स के माध्यम से डेंगू फैलाने के एक मामले की पुष्टि की है, जो की पूरी दुनिया में अभी तक पहला मामला सामने आया विश्व का पहला ऐसा वायरस है क्योंकिअब तक सिर्फ मच्छरों द्वारा ही डेंगू का वायरस फैलने की जानकारी थी।

दरअसल यह मामला स्पेन के मेड्रिड के एक 41 वर्षीय व्यक्ति का है, जिसे अपने पुरुष साथी के साथ यौन संबंध बनाने के बाद डेंगू हो गया । उस व्यक्ति का पुरुष साथी क्यूबा की यात्रा के दौरान मच्छर के काटने से डेंगू वायरस की चपेट में आ गया था।

मेड्रिड के राजकीय स्वास्थ्य विभाग के अनुसार , सितंबर में व्यक्ति में डेंगू संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इस केस ने डॉक्टरों को हैरान कर दिया था, क्योंकि व्यक्ति ने उस देश की यात्रा नहीं की थी, जहां डेंगू की बीमारी फैली हुई हो। उस व्यक्ति के साथी में डेंगू के लक्षण पहले से मौजूद थे और वो क्यूबा और डोमिनिकन राज्य का दौरा भी कर चुका था।

उन दोनों लोगों के स्पर्म का विश्लेषण किया गया और उसमे यह पता चला कि उन्हें न केवल डेंगू है, बल्कि यह बिल्कुल वैसा ही वायरस था जो क्यूबा में फैला हुआ है। हाल ही में, यौन संबंध के जरिए एक पुरुष और एक महिला में डेंगू का मामला दक्षिण कोरिया में भी सामने आया था।

स्टॉकहोम स्थित यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल जो की यूरोप में स्वास्थ्य और बीमारी पर नजर रखता है, उनके अनुसार उनकी जानकारी में पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों में डेंगू वायरस का ये पहला यौन संचरण मामला सामने आया है।

डेंगू मुख्य रूप से एडीज एजिप्टी मच्छर द्वारा फैलता है, जो घनी आबादी वाले ट्रॉपिकल जलवायु में पनपता है और पानी में जन्म देकर संख्या को बढाता है। इससे एक वर्ष में 10,000 लोगों की मौत होती है और करीब 10 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित होते हैं।

इस बीमारी के लक्षण काफी ज्यादा खतरनाक हैं, जिसमें तेज बुखार, गंभीर सिरदर्द और उल्टी शामिल है। यह कई देशों पर भारी आर्थिक बोझ भी डालता है क्योंकि पीड़ित काम करने में असमर्थ होते हैं, साथ ही गंभीर प्रकोप होने पर लोगों के स्वास्थ सेवाओं पर भी असर पड़ता हैं ।

यह बच्चों में काफी गंभीर और घातक है, विशेष रूप से युवा लड़कियों में और कई वैज्ञानिक इसका अभी तक कारण का पता नहीं लगा पाए हैं। डेंगू सबसे अधिक दक्षिण पूर्वी एशिया, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, कैरिबियन और दक्षिण और मध्य अमेरिका जैसे गर्म जलवायु में जाने वाले लोगों को होता है।

वर्तमान में विकसित डेंगू और डेंगवाक्सिया को ठीक करने के लिए कोई विशेष दवा या वैक्सीन नहीं है, यह सिर्फ उन लोगों में प्रभावी है, जिन्हें पहले से ही बीमारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *