Categories
News

अब भारत में इस तरह होगा कोरोना वायरस का इलाज, ICMR ने भी दी मंजूरी

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में इस समय हाहाकार मचा रखा है. इस महामारी के चलते हजारों लोग अपनी जान दे चुके हैं. सबसे विचलित करने वाली बात ये है कि इस बीमारी का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है और न ही कोई वैक्सीन तैयार हुई है जिससे लोगों को ठीक किया जा सके.

जानकारी के लिए बता दें दुनियाभर के देश इस बीमारी की दवा बनाने में लगे हुए हैं. लेकिन कहीं से भी राहतभरी खबर न आ रही है. इसी बीच एक बड़ी खबर श्री चित्रा तिरुनल इंस्टिट्यूट फॉर मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी ने इस वायरस के इलाज के लिए एक नया तरीका खोजा है.

इलाज की इस नयी तकनीक को लेकर बताया जा रहा है कि ये कोरोना के इलाज में कारगर सिद्ध हो सकती है. इस नयी तकनीक को ‘प्लाज्मा’ थेरेपी कहा जा रहा है. इस नयी तकनीक से रोगी से ठीक हुए एक शख्स के इम्यून सिस्टम की क्षमता के जरिये बीमार शख्स का इलाज किया जाता है.

गौरतलब है कि सबसे बड़ी खुशखबरी ये है कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् ICMR ने इस तरीके के उपचार के लिए मंजूरी दे दी है जोकि भारत के लिए बड़ी बात है. इस उपचार प्रणाली के अंतर्गत नए मरीजों के ब्लड में पुराने ठीक हो चुके मरीज का खून डालकर उसके प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर बीमारी से लड़ने के लिए एंटीबॉडी को तैयार किया जा रहा है जोकि कोरोना से लड़ने में कारगर सिद्ध हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *