Categories
Other

अमेरिका के बाद अब जापान से दिया चीन को जोरदार झटका, चीन से अपना कारोबार समेटेंगी जापानी कंपनियां

पूरी दुनिया को अपना दुश्मन बना कर चीन अब बुरी तरह फंस गया है. दुनिया भर के देश उसे दो मोर्चों पर घेर कर सबक सिखाने का निश्चय कर चुके हैं. एक तरफ तो अमेरिका, जापान, भारत, ऑस्ट्रेलिया, ताइवान, ब्रिटेन उसे दक्षिण चीन सागर से लेकर प्रशांत महासागर तक घेरे हुए हैं वहीँ दूसरी तरफ ये सारे देश मिलकर चीन को आर्थिक झटके भी दे रहे हैं. पिछले महीने ही अमेरिकी सीनेट में एक बिल पास हुआ था, जिसके अनुसार चीन से अपना कारोबार समेत कर अमेरिका में वापस आने वाली कंपनियों को अपना कारोबार जमाने के लिए पैसा दिया जाएगा. अब जापान भी अमेरिका की रह पर ही निकल पड़ा है.

 जापान की सरकार ने चीन से जापानी कंपनियों का वापस निकालने और फिर से जापान में लाने के लिए पैसे देने का फैसला किया है. जापान अपनी 57 कंपनियों को चीन से वापस आकर देश में ही मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए 53.6 करोड़ डॉलर खर्च कर रहा है. जापान सिर्फ चीन से ही नहीं बल्कि कई अन्य देशों से भी अपनी कंपनियों को वापस बुला रहा है. जापान सरकार वियतनाम, म्यांमार, थाइलैंड से करीब 30 जापानी कंपनियों को वापस बुला रही है.

चीन से कई कम्पनियाँ खुद ही अपना कारोबार समेत रही है. उन्हें अपने भविष्य को लेकर चिंता है क्योंकि कई देश मेड इन चाइना प्रोडक्ट के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है. ऐपल ने भी चीन से अपना कारोबार समेत भारत में अपना प्लांट लगाने का फैसला किया है. भारत सरकार ने भी चीनी कंपनियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. भारत सरकार ने 7 ऐसी चीनी कंपनियों की पहचान की है जिनका रिश्ता चीनी सेना से है. उन्हें देश से बाहर निकालने पर विचार किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *