Categories
Other

Children’s day: पहले 20 नवंबर को मनाया जाता था ये दिन, इस ख़ास वजह के चलते बाद में बदल दी गई थी तारीख

आज के दिन यानी 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। बच्चों के लिए यह बेहद ही ख़ास दिवस हैं। और आज इस ख़ास मौके पर गूगल ने एक डूडल भी बनाया है। जैसा की हम सब बचपन से सुनते और पढ़ते आ रहे हैं की देश के पहले प्रधानमंत्री के जन्म दिवस पर ये दिन मनाया जाता हैं । लेकिन हम आज आपको इस दिन से जुड़ी एक ख़ास जानकारी बताने जा रहे हैं जो शायद बहुत ही काम लोग जानते होंगे ।

क्या आप लोगों यह बात मालूम हैं, की ये बाल दिवस का दिन पहले 20 नवंबर की तारीख को मनाया जाता था । दरअसल 27 मई , 1964 को जब भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु जी का निधन हुआ था तब से यह निर्णय लिया गया था की नेहरु जी के जन्मदिन परही ये बाल दिवस मनाया जाएगा । प्रधानमंत्री नेहरु ने शिक्षा को लेकर काफी अच्छे और ज़रूरी काम भी किये थे ।

यह बाल दिवस सन 1925 से मनाया जा रहा हैं , और इसे पूरी दुनिया में सन 1953 में मान्यता मिली थी । उस वक़्त संयुक्त राष्ट्र संघ ने बाल दिवस को 20 नवंबर के दिन मानाने का ऐलान किया था ।

कुछ देशों में तो 1 जून को बाल दिवस मनाया जाता है। आज के दिन स्कूलों में अनेक प्रतियोगिताएं और खेलों का आयोजन भी किया जाता है। 14 नवंबर 1889 को जन्में जवाहरलाल नेहरू ने आजादी में अपना एक अहम योग्यदान दिया था । उन्होंने महात्मा गांधी के संरक्षण में न केवल काम किया बल्कि आखिरी वक्त तक उनका बराबर साथ भी दिया था ।

महात्मा गांधी के आखिरी अनशन के वक्त जवाहरलाल नेहरू देश के प्रधानमंत्री के रूप में सबको संबोधित कर रहे थे। उस दौरान नेहरू ने देश को संभालते हुए गांधी जी का न केवल साथ दिया बल्कि अपनी महानता का परचम भी लहराया था । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *