Categories
Other

BCCI ने धोखाधड़ी के मामले में इस भारतीय क्रिकेटर पर लगाया बैन!

क्रिकेट में धोखाधड़ी के मामला कोई नई बात नहीं है. कई लोगों को इस मामले में बैन भी किया गया है तो कई खिलाड़ियों के मामले कोर्ट में लंबित है. ऐसा ही एक ताजा मामला दिल्ली में सामने आया है. आइये जानते है ऐसी क्या वजह हो गयी कि BCCI को इस क्रिकेटर के लिए ये कदम उठाना पड़ा.

दिल्ली के क्रिकेटर प्रिंस राम निवास यादव को अंडर-19 टूर्नामेंट में आयु में हेराफेरी के मामले में दोषी पाए जाने के बाद बीसीसीआई ने अगले दो सत्र के लिए घरेलू क्रिकेट से प्रतिबंधित किया है. डीडीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इसकी पुष्टि हो गई है. हमें BCCI से सूचना मिली है कि प्रिंस यादव को आयु में हेराफेरी का दोषी पाया गया है. आपको बता दें कि BCCI ने CBSE द्वारा जारी प्रमाण पत्र के आधार पर कार्रवाई की जिसमें प्रिंस यादव की जन्मतिथि 10 जून 1996 थी. लेकिन इस क्रिकेटर ने क्रिकेट बोर्ड को जो जन्म प्रमाण पत्र सौंपा था उसमें उसकी जन्मतिथि 12 दिसंबर 2001 दर्ज थी.

बीसीसीआई ने 30 नवंबर को डीडीसीए को भेजे पत्र में कहा, ‘क्रिकेटर के अधिक उम्र का होने से संबंधित शिकायत पर कार्रवाई करते हुए बीसीसीआई ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से उससे संबंधित जानकारी मांगी और पता चला कि प्रिंस यादव ने 2012 में 10वीं की परीक्षा पास की और उनकी असल जन्म तिथि 10 जून 1996 है. बीसीसीआई ने कहा कि आयु वर्ग के टूर्नामेंटों में फायदे उठाने के लिए यादव ने एक से अधिक जन्म प्रमाण पत्र बनवाए.





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *