Categories
Other

राजस्थान के सियासी ड्रामे में आया नया मोड़, गहलोत ने राज्यपाल से मिलकर…

बीते एक हफ्ते से चल रहे राजस्थान के सियासी ड्रामे में नया मोड़ आ गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल से मुलाक़ात कर उन्हें 102 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा है और बहुमत का दावा किया है. कुछ दिनों पहले गहलोत सरकार को समर्थन देने से मना करने वाली भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) ने भी अब गहलोत को समर्थन दे दिया. पार्टी के दो विधायक आज ही अशोक गहलोत को समर्थन देने होटल में पहुंचे थे. उसके बाद गहलोत ने राज्यपाल से मिलकर 102 विधायकों का समर्थन पत्र उन्हें सौंपा और दावा किया कि उनकी सरकार के पास पूर्ण बहुमत है.

राजस्थान विधानसभा में 200 सीटें है, बहुमत का आंकड़ा 101 है. भाजपा के पास 72 और उसकी सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के तीन विधायक हैं. इस तरह NDA का आंकड़ा 75 तक पहुँचता है. सचिन पायलट के साथ कांग्रेस के 19 विधायक हैं. तेन निर्दलीय और एक माकपा के विधायक को मिला कर सचिन पायलट के बागी गुट का आंकड़ा पहुँचता है 23. NDA और सचिन पायलट को मिला कर 98 विधायाक होते हैं. बाकी के 102 विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए अशोक गहलोत राजभवन पहुँच गए.

जिस तरह से अशोक गहलोत ने बहुमत का दावा करते हुए 102 विधायकों का समर्थनपत्र राज्यपाल को सौंपा है वो पायलट गुट के लिए बहुत बड़ा झटका है. क्योंकि बहुमत हासिल करने के बाद पायलट गुट की मांगों को मानने की कोई मजबूरी अशोक गहलोत की नहीं होगी. और अब कांग्रेस के लिए सचिन पायलट गुट को पार्टी से बर्खास्त करने का रास्ता भी साफ़ हो गया है. पायलट पहले ही कह चुके हैं कि वो भाजपा के साथ नहीं जायेंगे. इस तरह पायलट न घर के रहे न घाट के.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *