Categories
Other

बस पॉलिटिक्स को लेकर कांग्रेस में पड़ी फूट, अपनी ही पार्टी पर बरसी कांग्रेस विधयाक

पिछले दो तीन दिन से यूपी के अंदर बस पॉलिटिक्स काफी चर्चा में बनी हुई हैं. बस पॉलिटिक्स को लेकर पहले कांग्रेस ने बीजेपी पर नि’शाना साधा था कि उन्होंने मजदूरों के लिए बस दी है लेकिन यूपी सरकार उसको लेने के लिए तैयार नहीं हैं. जब यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने उनसे बसों की लिस्ट मांगी तो सच सबके सामने आ गया. उसके बाद कांग्रेस की जमकर फजीयत हुई.

मजदूरों को लेकर कांग्रेस पॉलिटिक्स करने में पीछे नहीं रहती हैं. बस प्रकरण को लेकर अब कांग्रेस में भी फू’ट पड़ने लगी हैं. रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह के बस पॉलिटिक्स को लेकर अपनी पार्टी की जमकर आलो’चना की हैं. अदिति सिंह ने कहा कि मजदूरों को लेकर ये ये भ’द्दा मजाक किया जा रहा हैं.

अदिति सिंह ने ट्वीट में लिखा है, ‘आ’पदा के वक्त ऐसी निम्न सि’यासत की क्या जरूरत, एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 ऑटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रू’र मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई.’

कांग्रेस कि विधायक अदिति सिंह कई बार कांग्रेस के खि’लाफ ब’गावत करती नजर आई हैं. अदिति सिंह पिछले साल पार्टी व्हिप का उल्लं’घन करते हुए विधानसभा सत्र में पहुंची थी. अदिति सिंह ने यही नहीं जब केंद्र सरकार ने धारा 370 को हटाया था तब भी अदिति सिंह ने कांग्रेस के खिला’फ जाकर उसका समर्थन किया था. अदिति सिंह ने कोरोना वार्रियर के लिए दिए भी जलाये थे जब पीएम मोदी ने देश से अपील की थी.

अदिति सिंह योगी आदित्यनाथ के द्वारा लिए गए फैसले को लकर उनकी तारीफ भी करती आई हैं. उन्होंने कोरोना का’ल में जब यूपी के छात्र को कोटा से वापस लेकर आये थे. उसको लेकर भी उन्होंने ट्वीट कर के योगी की तरीफ में कसीदे पढ़े थे. आज एक बार भी अदिति सिंह ने अपनी पार्टी को घे’रा हैं. कहीं न कहीं कांग्रेस में बस पॉलिटिक्स को लेकर सबके अपने अलग- अलग मत दिख रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *